क्या है scientific reason मंत्र जाप के पीछे

जी हां जो लोग आध्यात्मिक है उन्हें इस बात का कोई प्रमाण नहीं चाहिए कि जाप करने के कितने फायदे होते है।

जो लोग हर चीज में लॉजिक ढूंढ़ते हैं ये पोस्ट उन्हीं के लिए है। क्या वाकई में कुछ होता है मंत्र जाप से।

एक सिम्पल एग्जाम्पल से समझते हैं।


जब बच्चे एग्जाम देते है और पढ़ाई करते हैं तो आप उन्हें बोलते हैं ना  revise करो और तब तक करते रहो जब तककी तुम्हे याद ना हो जाए। 
उन्हें समझाते हैं कि पूरा फोकस करके इस तरह से पढ़ो कि कभी ना भूलो। और फिर वह ज्ञान उनके जीवन भर काम आता है।

हम जो कुछ भी बोलते हैं उसका प्रभाव व्यक्तिगत रूप से सारे ब्रह्माण्ड पर पड़ता है। हमारे मुह से निकला हुआ हर शब्द आकाश के सूक्ष्म परमाणुओं में तरंगे उत्पन्न करता है और इन तरंगों से लोगों में अदभुत एनर्जी जाग्रत होती हैं।

उसी तरह मंत्र जाप है। जब आप किसी मंत्र का जाप करते है और बार – बार करते हैं तो उसका महत्व बढ़ जाता है।

Technically

टेक्निकली बात करे तो मंत्र विज्ञान में इन्फ्रासोनिक स्तर की सूक्ष्म ध्वनियाँ काम करती हैं। मंत्र जप से एक प्रकार की ( इलेक्ट्रो मैग्नेटिक) vibration उत्पन्न हो जाती हैं। जो पूरे शरीर में फैल कर कई गुना multiply हो जाती हैं। इससे लाइफ एनर्जी बढ़ती है हम शांत फोकस्ड और सफल बनते हैं

मंत्र जप से ,बॉडी के organs तथा हार्मोन अच्छे से काम करते हैं

जिस कार्य के लिए आप वह जाप कर रहे हैं वह सिद्ध हो जाता है। जैसे अच्छे से पढ़ाई करने पर फुल मार्क्स आते हैं।उसी तरह मंत्र जाप करने से आपकी मनोकामना निश्चित ही पूरी होती है।
हमारा subconscious mind उसी तरह से काम करता है जैसा हम उसे करने को कहते है।

बार बार अच्छी या बुरी बात मन में सोचते रहने से वही वाइब्रेशन एक्टिवेट होती है और हम वैसे ही बन जाते है तो मंत्र जप करने से आप खुश और संतुष्ट रहने लग जाते हैं

प्रभु तो भक्तवत्सल

अब आप कहेंगे प्रभु तो भक्तवत्सल है उन्हें एक बार पुकारो या बार बार क्या फर्क पड़ता है।
हमारा इतिहास उठा कर देख लीजिए । सर्वश्रेष्ठ होने के लिए हो चाहे प्रभु भक्ति प्राप्त करने के लिए कई ऋषियों, राजाओं, योगियों ने जप किए। तपस्या की तब जाकर उनकी मनोकामना पूरी हुईमनुष्य जीवन के लिए वैसे भी तीन कर्म भगवान ने बनाए है
भक्ति दान सेवा।

अब मंत्र सबसे सरल और इफेक्टिव तरीका जिसमें आप अपने अंदर उस ऊर्जा को जगा लेते हैं जो आप नॉर्मल अपने आप को बोलकर नहीं कर पाते

ये पूरी तरह प्रामाणिक है क्यूंकि ये ऊर्जा आपको हर बार मंदिर जाने पर भी मिलती है  वहा निरंतर प्रभु स्मरण होता है जिसका मतलब आपके अंदर पॉजिटिव वाइब्रेशन आ जाती है

तो खुद को powerful बनाने का सबसे आसान तरीका है मंत्रं जप जरूर कीजिए


Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *