क्या अंगूठी पहनने से किस्मत बदल जाती है?

क्या वाकई में अंगूठी पहनने से किस्मत बदल जाती है और अगर वाकई में ऐसा होता है तो हर कोई अंगूठी क्यों नहीं पहनता?

<script async src="https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script>
<ins class="adsbygoogle"
     style="display:block; text-align:center;"
     data-ad-layout="in-article"
     data-ad-format="fluid"
     data-ad-client="ca-pub-7050967736078892"
     data-ad-slot="8397187000"></ins>
<script>
     (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
</script>

दोस्तों अगर आप भी इन सब चीजों में मानते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए नहीं है लेकिन अगर आपको लगता है यह सब फालतू की बातें हैं तो यह पोस्ट आखिर तक पढ़िए।
हमने अक्सर देखा है कि जब आप लोग बहुत परेशान होते हैं तब बाबा तांत्रिक साधु और ज्योतिषी ये सब बहुत याद आते हैं। जैसे कि वह कोई जादू करेंगे और आपकी सारी समस्याएं सुलझ जाएंगी।

कभी आपने सोचा यह सब बातें हमारे दिमाग में डालता कौन है?।

आज के माहौल को तो आप देख ही रहे  होंगे जितने भी पंडितो ने भविष्यवाणी की होगी की आपको अच्छी नौकरी मिलेगी। बड़ी गाड़ी मिलेगी, बड़ा घर होगा, खूब सुख संपदा होगी वो सब गायब है।

क्यों हमने भगवान और हमारे बीच यह दीवार खड़ी की?

हमारे समाज में यह भ्रांतियां बचपन से हैं जिसे हम अंधविश्वास भी कह सकते हैं।महाभारत में देख लीजिए श्री कृष्ण ने कहा है कर्म कर फल की इच्छा मत कर। अब क्यों बार-बार ऐसा कहते हैं क्योंकि हमारे कर्म ही यह निर्धारित करते हैं कि हमारा आने वाला पल कैसा होगा।
अगर हमने कुछ गलत किया तो क्या हमारा भविष्य अच्छा हो सकता है ? बिल्कुल नहीं।

उदाहरण से समझे तो अगर आपको कोई गुस्सा दिलाता है, आपको कोई चाटा मारे तो क्या आप उससे प्यार से बात करेंगे? आप उस पर गुस्सा ही करेंगे ना जो कर्म उसने किया उसका फल उसे मिलेगा। अब इसमें अंगूठी क्या करेगी।

कितनी मजाक वाली बात है इतना पढ़ा लिखा समाज होने के बावजूद लोग इन सब चीजों को मानते हैं। खुद भगवान अपने किए हुए कर्मों के फल को बदल नहीं सकते तो हम इंसान तो है ही क्या।
अभी यह जीवन है और इसमें हर मोड़ पर उतार-चढ़ाव तो आएंगे ही जैसा आपका एक्शन होगा वैसा ही रिएक्शन होगा।
अब आप कहेंगे मैंने बहुत मेहनत की थी एग्जाम में कम मार्क्स से उत्तीर्ण हुआ, लेकिन जैसे ही मैंने मोती पहना मतलब अंगूठी मेरे मार्क्स अच्छे आए।

हमारा सबकॉन्शियस माइंड ऐसी कई बातों को तूल देता है जिनका कोई सर पैर नहीं होता बस हम मान लेते हैं कि ऐसा होगा।
यहां भी ऐसा ही हुआ। अंगूठी वही कॉन्फिडेंस आपको देती है जो पहले से ही आपके पास था पर आप लोगो की बातो से इतना डरे थे कि आपने उतनी मेहनत नहीं की जितनी करनी चाहिए थी।

दोस्तों भगवान ने हमें सोचने समझने की शक्ति दी है।कर्म करने की शक्ति दी है।

हमारा ध्यान अगर हमारे कर्मों पर होगा तो हमें सफलता भले ही ना मिले हम असफल कभी नहीं होंगे।

हम अपनी गलती को देखेंगे और दोहराएंगे नहीं। गलतियों से सीख लेकर आगे बढ़ेंगे।

इस अंधविश्वास से बाहर निकले दोस्तों। बहुत कुछ है जीवन में करने को, नहीं तो यह लोग भाग्य के नाम पर आपको जीवन भर डराते रहेंगे। आपका बहुत सारा धन लूटते रहेंगे।होशियार बनिए समझदार बनिए। 


Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *